सोमवार, 30 जून 2014

बॉर्डर और बिहार

बिहार के सीमांत जिले अररिया, किशनगंज, कटिहार और पूर्णिया में पोरस बॉर्डर से होकर जो समस्याएं प्रवेश कर रही हैं, उनके दूरगामी परिणाम घातक होंगे। सतत घुसपैठ ने जहां इन इलाकों को मानव से लेकर मवेशी तस्करों का पसंदीदा ठिकाना बना दिया है, वहीं गरीबी, जनसंख्या विस्फोट, धार्मिक आडंबर आदि भी बढ़ते जा रहे हैं । आलम यह है कि पशु तस्करों ने इलाके के सांड़ और सार्वजनिक भैंसा तक को नहीं बख्शा है। अररिया, सुपौल, किशनगंज जिले से अचानक सांड़ और भैंसा लापता हो रहे हैं। द पब्लिक एजेंडा की कवर स्टोरी में मैंने इस पर अलग से रिपोर्ट लिखी है।

5 टिप्‍पणियां:

BLOGPRAHARI ने कहा…

आपका ब्लॉग देखकर अच्छा लगा. अंतरजाल पर हिंदी समृधि के लिए किया जा रहा आपका प्रयास सराहनीय है. कृपया अपने ब्लॉग को “ब्लॉगप्रहरी:एग्रीगेटर व हिंदी सोशल नेटवर्क” से जोड़ कर अधिक से अधिक पाठकों तक पहुचाएं. ब्लॉगप्रहरी भारत का सबसे आधुनिक और सम्पूर्ण ब्लॉग मंच है. ब्लॉगप्रहरी ब्लॉग डायरेक्टरी, माइक्रो ब्लॉग, सोशल नेटवर्क, ब्लॉग रैंकिंग, एग्रीगेटर और ब्लॉग से आमदनी की सुविधाओं के साथ एक
सम्पूर्ण मंच प्रदान करता है.
अपने ब्लॉग को ब्लॉगप्रहरी से जोड़ने के लिए, यहाँ क्लिक करें http://www.blogprahari.com/add-your-blog अथवा पंजीयन करें http://www.blogprahari.com/signup .
अतार्जाल पर हिंदी को समृद्ध और सशक्त बनाने की हमारी प्रतिबद्धता आपके सहयोग के बिना पूरी नहीं हो सकती.
मोडरेटर
ब्लॉगप्रहरी नेटवर्क

Anu Shukla ने कहा…

बेहतरीन
बहुत खूब!

HindiPanda

AjayKM ने कहा…

streaming sports
getthelifestyle

Biswajit ने कहा…

Thanks for sharing such great information

All your graphical need is here
Visit for wedding graphics
Traditional graphics
Cliparts
Graphical Resources
All your DTP needs

ABHISHEK SHORI ने कहा…

सच को बया करती आपकी यह post. Keep writing

science, technology computer ki knowledge ke liye vigyantk.com pr jarur aaye