शुक्रवार, 20 जुलाई 2012

जाना एक आनंद का (अंतिम यात्रा की कुछ तस्वीरे)

पर्दे पर हमेशा आनंद परोसने वाला वह शख्स अभिनय की दुनिया का अवतार था। उनकी अभिनय यात्रा अमर प्रेम कथा की तरह है, जो जनता हवलदार  की यादों में हमेशा चलती रहेगी।

4 टिप्‍पणियां:

Pallavi saxena ने कहा…

विनम्र श्रीद्धांजलि... समय मिले कभी तो आयेगा मेरी पोस्ट पर आपका स्वागत है
http://mhare-anubhav.blogspot.co.uk/

Sunil Kumar ने कहा…

विनम्र श्रीद्धांजलि ऐसे कलाकार को .........

चैतन्य शर्मा ने कहा…

नमन....

अजय कुमार झा ने कहा…

हमने आपकी पोस्ट का एक कतरा सहेज़ लिया है , आज ब्लॉग बुलेटिन के पन्ने को खूबसूरत बनाने के लिए । देखिए कि मित्र ब्लॉगरों की पोस्टों के बीच हमने उसे पिरो कर अन्य पाठकों के लिए उपलब्ध कराने का प्रयास किया है । आप टिप्पणी को क्लिक करके हमारे प्रयास को देखने के अलावा , अन्य खूबसूरत पोस्टों के सूत्र तक पहुंच सकते हैं । शुक्रिया और आभार